दिल्ली

 

railway-2439189_960_720.jpg

सरकार सस्ते में धार्मिक स्थानों के दर्शन कराने के लिए जल्द ही एक विशेष ट्रेन शुरु करने जा रही है। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) ने भारत दर्शन सेवा के तहत चंढीगड़ से विशेष ट्रेन चलाने का फैसला किया है, जो लोगों को 12 दिनों में दक्षिण भारत के कई धार्मिक स्थलों और मंदिरों के दर्शन कराएगी। इन 12 दिनों की यात्रा का किराया सिर्फ 11,340 रुपए है, जिसमें यात्रा,

Read more...

 

urjit-patel-1528726270.jpg

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल मंगलवार को संसदीय स्थायी समिति के सामने पेश होंगे. इस दौरान उनसे समिति के सदस्य बैंकों के बढ़ते बैड लोन को लेकर और नोटबंदी के बाद बैंकों में वापस आए नोटों के आंकड़ों को लेकर सवाल कर सकते हैं.

संसदीय समिति के सदस्य और सांसद दिनेश त्रिवेदी ने कहा, '' नोटबंदी के बाद से अब तक लंबा समय गुजर चुका है. इस लंबी अवध‍ि के दौरान केंद्रीय बैंक ने अभी तक यह नहीं बताया है कि बैंक‍िंग सिस्टम में कितनी मुद्रा लौटी है.'' ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि मंगलवार को आरबीआई गवर्नर इस संबंध में कुछ आंकड़े जारी कर सकते हैं.

नोटबंदी के बाद लौटी मुद्रा के अलावा इस दौरान उर्जित पटेल से बैंकों के बढ़ते घोटाले और फंसे कर्ज को लेकर भी सवाल पूछे जा सकते हैं. इस संसदीय समिति की अध्यक्षता कांग्रेसी नेता वीरप्पा मोइली कर रहे हैं. इस समिति में देश के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी शामिल हैं.

बता दें कि 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की घोषणा की थी. उन्होंने 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट बंद किए जाने की घोषणा की थी. नोटबंदी के बाद ही यह संसदीय समिति बनाई गई थी.

यह पहली बार नहीं है, जब उर्जित पटेल संसदीय समित‍ि के सामने पेश होंगे. इससे पहले भी उन्हें कई बार समिति के तीखे सवालों का सामना करना पड़ा है.

 

Tejaswi_Tezpratap_and_Rabri_10-6-18.jpg

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के अध्यक्ष लालू यादव के बेटे तेज प्रताप के कुछ ट्वीट्स ने राज्य की राजनीति में एक नई चर्चा शुरू कर दी है। तेज प्रताप ने एक ट्वीट के जरिए यह कहने की कोशिश की है कि वह राजनीति से संन्यास ले सकते हैं और 'सबकुछ' अपने भाई तेजस्वी के हाथों में सौंप सकते हैं।

बाद में इसी मुद्दे पर बात कहते हुए तेज प्रताप ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं पर आरोप लगाते हुए कहा, 'पार्टी के लोग मेरा फोन नहीं उठाते हैं और कहते हैं कि उन्हें ऐसा करने के लिए वरिष्ठ नेताओं की ओर से कहा गया है। मेरे और मेरे भाई के बीच में कोई मतभेद नहीं है। हमें उन तत्वों को पार्टी से निकालना होगा, जो हमें तोड़ना चाहते हैं। मैं चाहता हूं कि सीनियर नेता ऐसे लोगों को पहचानें और उनको बाहर करें।'

'असामाजिक तत्वों को पार्टी से निकालना होगा'
तेज प्रताप ने मीडिया से बात करते हुए यह भी कहा, 'हमें असामाजिक तत्वों को पार्टी से निकालना होगा। राजेंद्र पासवान जैसे लोगों ने हमारे लिए मेहनत की है। जब मैंने लालू जी, राबड़ी जी और तेजस्वी को कहा तब उन्हें पद दिया गया। यह सब इतनी देरी से क्यों किया गया?'

दरअसल, तेज प्रताप ने एक ट्वीट में लिखा, 'मेरा सोचना है कि मैं अर्जुन को हस्तिनापुर की गद्दी पर बैठाऊं और खुद द्वारका चला जाऊं। अब कुछएक 'चुगलों' को कष्ट है कि कहीं मैं किंगमेकर न कहलाऊं।' तेज प्रताप के इस ट्वीट से कयास लगाए जा रहे हैं कि उनके और तेजस्वी के बीच कुछ गड़बड़ चल रही है।

तेजस्वी को बताया कलेजे का टुकड़ा
तेजस्वी के बारे में बोलते हुए तेज प्रताप ने कहा, 'वह मेरे कलेजे का टुकड़ा है। असामाजिक तत्वों की कोशिश है कि भाई-भाई को लड़वाने की। उनकी कोशिश है कि पार्टी को तोड़ो, लालू यादव को तोड़ों लेकिन हम कभी ऐसा होने नहीं देंगे। वरिष्ठ नेताओं को चाहिए कि ऐसे लोगों को चिह्नित करें और उनको बाहर निकालें।'

'तोड़ने वालों से सावधान रहना जरूरी'
हालांकि, तेज प्रताप ने एक और ट्वीट किया है और कहा है कि उनकी पार्टी को एकता में सेंध लगानेवालों से बचना चाहिए। उन्होंने लिखा, 'आरजेडी और गठबंधन सहयोगियों के सामने 2019 के लिए एक नई सरकार बनाने की बड़ी जिम्मेवारी है लेकिन हमें उन असामाजिक तत्वों से सावधान रहना है, जो इस एकता में सेंध लगाना चाहते हैं। जय भीम, जय बहुजन, जय मंडल, जय हिंद।' आपको यह भी बता दें कि जिस अकाउंट से ये ट्वीट्स किए गए हैं, वह वेरिफाइड अकाउंट नहीं है।

होली को लेकर  हर तरफ लोग रंगों से सराबोर दिखे। स्कूल, कॉलेज सहित कार्यालयों में भी लोगों ने एक दूसरे को रंग लगाकर होली की शुभकामनाएं दी। होली के उपलक्ष्य में मंदिरों में भी हवन यज्ञ के साथ फूलों की होली खेली गई। कई मंदिरों में गुलाल और अबीर अर्पित कर देवताओं के साथ होली खेल कर उनका आर्शीवाद लिया गया। राजनीतिक पार्टियों ने भी होली मिलन समारोह आयोजित कर भेदभाव से परे एकता का संदेश दिया। 

Photo Gallery