railway-2439189_960_720.jpg

सरकार सस्ते में धार्मिक स्थानों के दर्शन कराने के लिए जल्द ही एक विशेष ट्रेन शुरु करने जा रही है। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) ने भारत दर्शन सेवा के तहत चंढीगड़ से विशेष ट्रेन चलाने का फैसला किया है, जो लोगों को 12 दिनों में दक्षिण भारत के कई धार्मिक स्थलों और मंदिरों के दर्शन कराएगी। इन 12 दिनों की यात्रा का किराया सिर्फ 11,340 रुपए है, जिसमें यात्रा,

रहना और खाना-पीना सब शामिल है।

16 अगस्त को होगी रवाना
भारत दर्शन स्पैशल टूरिस्ट ट्रेन तहत चलाई जाने वाली यह ट्रेन 16 अगस्त 2018 को चंढीगड़ से सुबह 7 बजे रामेश्वरम के लिए रवाना होगी। पैकेज का नाम दक्षिण भारत यात्रा है। यात्री इस ट्रेन से चंढीगड़, अंबाला, कुरुक्षेत्र, करनाल, पानीपत, दिल्ली कैंट, रेवाड़ी, अलवर और जयपुर से सवार हो सकते हैं। चंढीगड़ से रवाना होने पर चौथे दिन यह ट्रेन सुबह रामेश्वरम पहुंचेगी। उस दिन ट्रेन रात के समय रामेश्वरम में ही रुकेगी। अगले दिन रामेश्वरम में मदुरई के लिए रवाना होगी और वहां से मीनाक्षी मंदिर मंदिर के दर्शनों के लिए चलेगी।

11वें दिन रेनिगुंटा से होगी वापसी
छठे दिन यह ट्रेन सुबह तिरुवनंतपुरम पहुंचेगी, यहां यात्रियों को कोवलम बीच, पद्मनाभस्वामी मंदिर लेकर जाया जाएगा और शाम को कन्याकुमारी के लिए रवाना होगी। कन्याकुमारी में रुकने के बाद यात्रियों को तिरुचिरापल्ली में रंगनाथस्वामी मंदिर के दर्शन कराए जाएंगे और फिर ट्रेन रेनिगुंटा (आंध्र प्रदेश) के लिए रवाना होगी। रेनिगुंटा से यात्रियों को सरकारी बसों से तिरुपति दर्शनों के लिए लेकर जाया जाएगा और वहीं रात को रुकने की व्यवस्था होगी। अगल दिन तिरुपति से थोड़ी दूरी पर स्थित पद्मावती मंदिर के दर्शन कराए जाएंगे और फिर 11वें दिन ट्रेन रेनिगुंटा से चंढीगड़ के लिए वापिस रवाना होगी।

Photo Gallery