iim a bccl 1489639637 749x421एक रिक्शा चलाक का बेटा योगेंद्र सिंह अगले सप्ताह IIM लखनऊ से अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी कर अपने गांव लौटने वाला है.

30 साल के योगेंद्र, दरअसल झारखंड के मेदिनीनगर (डाल्टनगंज) के रहने वाले हैं और IIM से ग्रेजुएशन करने के बाद वह सबसे पहले अपने गांव की तस्वीर बदलना चाहते हैं. 

Photo Gallery