SJ WorldNews - шаблон joomla Авто
f1 l1 tw1 g1 g1
Breaking News

Webp.net gifmaker

ईवीएम से छेड़छाड़ साबित करने के लिए राजनीतिक दलों को तीन जून से मौका मिलेगा : चुनाव आयोग

चुनाव आयोग ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) से छेड़छाड़ को साबित करने के लिए राजनीतिक दलों को तीन जून से मौका देने का फैसला किया है। इसकी घोषणा करते हुए मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने कहा कि यह चुनौती हार या जीत के लिए नहीं, बल्कि चुनाव प्रक्रिया को मजबूत बनाने के लिए है।

उन्होंने आगे कहा कि राजनीतिक दलों ने हालिया चुनाव में इस्तेमाल ईवीएम पर सवाल उठाते हुए शिकायतें तो की हैं, लेकिन इससे जुड़ा कोई सबूत नहीं दिया है।

मुख्य चुनाव आयुक्त ने ईवीएम के आंतरिक सर्किट से छेड़छाड़ संबंधी आम आदमी पार्टी के दावे को खारिज कर दिया. उन्होंने कहा कि इसमें इस्तेमाल की गई सुरक्षित तकनीक की वजह से इसके आंतरिक सर्किट को बदल पाना नामुमकिन है। शनिवार को इससे पहले आयोग ईवीएम और वोटर वेरिफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) मशीन के काम करने के तरीके का प्रदर्शन किया।

मार्च में संपन्न विधानसभा चुनावों के बाद राजनीतिक दलों ने ईवीएम पर सवाल उठाया था. इसके अलावा 16 राजनीतिक दलों ने ज्ञापन देकर चुनाव आयोग से भविष्य में सारे चुनाव बैलेट पेपर से कराने की मांग की थी। ईवीएम पर आशंकाओं को दूर करने के लिए एक हफ्ते पहले चुनाव आयोग ने सर्वदलीय बैठक बुलाई थी। इसके बाद आयोग ने यह भी घोषणा की थी कि भविष्य में सारे चुनावों में ईवीएम के साथ वीवीपीएटी मशीनों को इस्तेमाल किया जाएगा।

वीवीपीएटी मशीन से प्रत्येक मतदान के बाद एक पर्ची निकलती है जिस पर पार्टी का चुनाव चिह्न होता है, इसे देखकर मतदाता अपने वोट के सही व्यक्ति को जाने की पुष्टि कर सकता है। इसके बाद यह पर्ची एक डिब्बे में जमा हो जाती है जिसे मतगणना संबंधी विवादों को दूर करने में इस्तेमाल किया जा सकता है।

Read 164 times
Rate this item
(0 votes)
Published in दिल्ली
khoji Narad Team

Uttarakhand No. 1 News Web Portal | Read Online Hindi news, khojinarad brings news in Hindi from India & World. Breaking News Daily news headlines, current affairs on politics, entertainment, sports, lifestyle, education and more.

Website: khojinarad.in/
primi sui motori con e-max.it