Md_Kaif_Mulla_Karnataka_Topper.jpg

कर्नाटक में एक छात्र के 10वीं परीक्षा में 625 में से 624 नंबर आए थे और वह संयुक्‍त रूप से टॉपर रहा था. छात्र ने जानना चाहा कि उसका एक नंबर कहां कटा और उसने दोबारा कॉपी जांचने की अर्जी दी और इस बार उसके शत प्रतिशत नंबर आए. अब वह अकेले टॉपर हैं. इस छात्र का नाम मोहम्‍मद कैफ मुल्‍ला है और उसके विज्ञान को छोड़कर बाकी विषयों में पूरे नंबर आए थे.

बेलगाम की सेंट जेवियर हाई स्‍कूल का छात्र कैफ आईएएस बनना चाहता है. उसने 11वीं में विज्ञान वर्ग लिया है. उसके माता-पिता हारून रशीद मुल्‍ला और परवीन मुल्‍ला अध्‍यापक हैं. हारून उर्दू टीचर हैं, जबकि मां परवीन कन्‍नड़ पढ़ाती हैं.

कैफ ने टूसर्कल्‍स डॉट नेट नाम की वेबसाइट को बताया, 'मुझे 100 फीसदी नंबर लाने का भरोसा था, क्‍योंकि पेपर देने के बाद मैंने अपने जवाबों को टीचर्स, नोटबुक और मॉडल आंसर शीट से मिलाया था. किस्‍मत की बात है कि मेरे सारे जवाब सही रहे. इससे पहले मुझे 624 नंबर(99.86%) मिले थे, लेकिन पुनर्मूल्‍यांकन के बाद मेरा रिजल्‍ट उम्‍मीद के अनुसार रहा.'

उसके पिता ने बताया कि उनका बेटा सोशल मीडिया जैसी चीजों की ध्‍यान नहीं देता. उन्‍होंने बताया, 'कैफ काफी पढ़ाकू छात्र है जो अपना समय सोशल मीडिया आदि पर बर्बाद नहीं करता. मैं चाहता हूं कि वह उच्‍च स्‍तर पर सफलता हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करें.' हालांकि, कैफ पढ़ाई के अलावा बाकी गतिविधियों में भी शामिल रहता है और स्‍कूल में एनसीसी यूनिट का कमांडर है.

Photo Gallery