राजनीति

बीजेपी को मिल रही बढ़त से उत्साहित उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, बीजेपी त्रिपुरा में ऐतिहासिक जीत की ओर अग्रसर है. मैं पीएम मोदी, अमित शाह और हमारे पार्टी कार्यकर्ताओं को मुबारकबाद देना चाहूंगा.

नई दिल्ली: मेघालय, नगालैंड और त्रिपुरा में आज कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतगणना हो रही है. अभी तक की मतगणना के अनुसार त्रिपुरा में बीजेपी एक बड़ी ताकत बनकर उभरी है. बीजेपी को मिल रही बढ़त से उत्साहित उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, बीजेपी त्रिपुरा में ऐतिहासिक जीत की ओर अग्रसर है. मैं पीएम मोदी, अमित शाह और हमारे पार्टी कार्यकर्ताओं को मुबारकबाद देना चाहूंगा.

नागालैंड में चुनाव परिणाम से जुड़े लाइव अपडेट के लिए क्लिक करें

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारी नागालैंड और त्रिपुरा में भी परफॉर्मेंस शानदार है. आज का दिन भारतीय राजनीति में काफी महत्वपूर्ण है. बीजेपी को मिल रही बढ़त को लेकर बीजेपी प्रवक्ता राम माधव ने कहा कि मुझे लगता है कि त्रिपुरा में बीजेपी बहुत शानदार करने वाली है. नागालैंड में भी हमारा गठबंधन बढ़िया कर रहा है. कांग्रेस मेघालय में पिछड़ रही है. तीनों राज्यों के नतीजे बीजेपी के लिए शानदार होने वाले हैं.

मेघालय में चुनाव परिणाम से जुड़े लाइव अपडेट के लिए क्लिक करें

यहां पर बीजेपी और लेफ्ट में कड़ी टक्कर है. वहीं नागालैंड में एनपीएफ सबसे आगे है और यहां पर भी बीजेपी गठबंधन के साथ अच्छा प्रदर्शन कर रही है. उधर मेघालय में कांग्रेस सबसे आगे चल रही है. यहां पर भी बीजेपी ने बेहतर प्रदर्शन किया है.

nitish kumarn

पटना (नेशनल  वार्ता ब्यूरो ) ।  पटना उच्च न्यायालय ने नीतीश कुमार की पार्टी जदयू के भाजपा के साथ मिलकर नई सरकार का गठन करने को चुनौती देने वाली दो जनहित याचिकाएं आज खारिज दीं। मुख्य न्यायाधीश राजेंद्र मेनन और न्यायमूर्ति एके उपाध्याय की खंडपीठ ने सभी पक्षों को सुनने के बाद जनहित याचिकाएं खारिज कर दीं और कहा कि विधानसभा में शक्ति परीक्षण के बाद अदालत के हस्तक्षेप की आवश्यकता नहीं है। एक याचिका राजद विधायकों सरोज यादव एवं चंदन वर्मा और दूसरी याचिका समाजवादी पार्टी के सदस्य जितेंद्र कुमार ने दायर की थी। अदालत ने गत शुक्रवार को इस मामले की सुनवाई आज तक के लिए स्थगित कर दी थी। नई नीतीश सरकार ने शुक्रवार को विश्वास मत हासिल कर लिया था। राजग इस नई सरकार में गठबंधन साझेदार है।

12 19 011619763kamal ll

नई दिल्ली ।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने शुक्रवार (26 मई) को तीन साल पूरे कर लिए हैं।आज से तीन साल पहले 26 मई 2014 को नरेंद्र मोदी देश की सत्ता पर काबिज़ हुए थे। बीजेपी सरकार के तीन साल पूरे होने पर जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम में एशिया के सबसे लम्बे पुल ढोला-सादिया पुल का उद्घाटन किया। वहीँ दूसरी तरफ विपक्षी दल कांग्रेस के नेता देश भर में प्रेस कांफ्रेंस कर रहे हैं। कमलनाथ ने दिल्ली में मीडिया से बात करते हुए मोदी सरकार की उपलब्धियों को बतौर भाषणबाजी और आश्वासन करार दिया। उनके मुताबिक इन दो उपलब्धियों के अलावा उनके पास कोई उपलब्धियां गिनाने के लिए नहीं है। कांग्रेस के बड़े नेता कमलनाथ ने कहा कि मोदी सरकार का पूरा ध्यान सिर्फ प्रचार पर है, उनके पास देश के लिए कोई ठोस नीति मौजूद नही है। उन्होंने कहा कि भाजपा अपनी सरकार के तीन साल पूरे होन के जश्न में दो हजार करोड़ रुपए खर्च कर रही है, जबकि इन तीन सालों में देश के किसानों की बद से बदतर हालत हो गयी है। सबसे ज्यादा किसानों ने आत्महत्या मोदी सरकार के कार्यकाल में ही की है। किसानों को फसल बीमा योजना का कोई फायदा नहीं मिला है। कमलनाथ ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने पिछले तीन सालों में कुछ नहीं किया है। मोदी सरकार ने मेक इन इंडिया, जनधन और स्वच्छ भारत अभियान जैसी योजनाओं के प्रचार पर ध्यान दिया है। कमलनाथ ने काले धन वापसी के वादे पर मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा, सरकार बताए कि कितना काला धन वापस आया है, साथ ही यह भी बताए कि नोटबंदी से देश को कितना फायदा हुआ। कमलनाथ के अलावा देशभर में मोदी सरकार के तीन सालों की पोल खोलने को लेकर कांग्रेस की ओर से प्रेस कांफ्रें स की जा रही हैं...........

adityanathलखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद कैबिनेट सहयोगियों को 15 दिन के भीतर आय और चल अचल संपत्ति का ब्यौरा उपलब्ध कराने का निर्देश देने वाले आदित्यनाथ योगी ने अब प्रदेश के अधिकारियों को भी ऐसा ही करने को कहा है. लोकसभा में प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक में योगी ने निर्देश दिया कि वे भाजपा के ‘संकल्प पत्र’ का कार्यान्वयन सुनिश्चित करें.

अधिकारियों को दी गयीं 'संकल्प पत्र' की प्रतियां

मौर्य के मुताबिक मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से यह भी कहा कि वे 15 दिन में अपनी चल अचल संपत्ति घोषित करें. बैठक में लगभग 65 वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए। अधिकारियों को भाजपा के संकल्प पत्र की प्रतियां दी गयीं और निर्देश भी कि वे अपने अपने विभागों का ‘रोडमैप’ बनायें.

 

कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा ने रविवार को कहा था कि भ्रष्टाचार समाप्त करना भाजपा का मुख्य एजेंडा है और इसी के तहत मुख्यमंत्री ने कैबिनेट सहयोगियों के साथ पहली बैठक में कहा कि वे सभी अपनी आय और चल अचल संपत्ति का ब्यौरा 15 दिन के भीतर सौंप दें.

Photo Gallery