bcc

छत्तीसगढ़ की राजधानी में पिता-पुत्री और भाई-बहन के पवित्र रिश्ते को कलंकित करते हुए एक पिता ने अपनी ही पुत्री के साथ और भाई अपनी बहन डरा-धमका कर तीन माह से अनाचार करते रहे। पीडि़ता के बीमार होने पर जब उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया तब मामले का खुलासा हुआ। इधर परिजनों को जब इस बात की जानकारी हुई तो वे भी सकते में आ गए। इसी दौरान आत्मग्लानि में युवक ने आत्महत्या कर ली। वहीं अनाचारी पिता को जेल भेज दिया गया है।  दिल दहला देने वाली और पवित्र रिश्तों को शर्मसार करने देने वाली घटना राजधानी के उरला थाना क्षेत्र के सत्यनगर डबरीपारा बीरगांव में सामने आई है। जहां एक कलयुगी पिता अपने ही सगी पुत्री को डरा-धमका कर उसके साथ पिछले तीन माह से अनाचार करता रहा। पीडि़ता के साथ अत्याचार और बर्बरता यहीं नहीं था, हद तो तब हो गई, जब बहन की अस्मिता की रक्षा करने के बजाए उसके ही सगे भाई ने भी उसके साथ अनाचार कर दिया। मानसिक त्रासदी का यह सिलसिला पिछले तीन माह से जारी रहा। लोक-लाज के भय से किशोरी डरी-सहमी रही और अपने ही सगे पिता और भाई के द्वारा शारीरिक शोषण का शिकार होती रही। किशोरी के गंभीर रूप से बीमार होने पर उसके अन्य भाईयों ने जब उसे अस्पताल में भर्ती कराया तब कहीं जाकर इस मामले का खुलासा हुआ। पुलिस सूत्रों ने बताया कि सत्यनगर डबरीपारा बीरगांव में रहने वाले आरोपी पिता आजाद अंसारी 60 वर्ष की पत्नी नहीं है। घर में उसके चार बेटे जिसमें से एक का नाम आरोपी रिजवान अंसारी है, के अलावा तीन पुत्र और एक पुत्री है जो कि पीडि़ता है। आरोपी आजाद अंसारी अपनी हवस मिटाने के लिए अपनी ही सगी बेटी का इस्तेमाल करता रहा। पीडि़ता द्वारा दर्ज शिकायत के आधार पर पुलिस सूत्रों ने बताया कि आरोपी पिता आजाद अंसारी पिछले तीन माह से उसके साथ अनाचार करता रहा। इस बीच आरोपी भाई रिजवान अंसारी ने भी उसके साथ अनाचार करता रहा। पीडि़ता जब महामारी से पीडि़त हुई तो उसके तीन अन्य भाईयों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। अस्पताल में मेडिकल जांच के दौरान जब उसके साथ अनाचार होने की बात सामने आई तो चिकित्सक भी सकते में आ गए। पूछताछ में पीडि़ता ने सारी कहानी बयां की तो उसके तीन अन्य भाई भी सकते में आ गए। इसके बाद मामले की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई गई।  अनाचार किया। ने की एक घटना प्रकाश में आई है। इधर भाईयों और रिश्तेदारों तक जब यह बात पहुंची तो आरोपी भाई रिजवान अंसारी आत्मग्लानि में डूब गया और 20-21 मई की दरम्यानी रात उसने अपने ही घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इस मामले में पुलिस ने आरोपी पिता के खिलाफ अपराध दर्ज कर उसे जेल भेज दिया है, वहीं पीडि़ता का अस्पताल में उपचार जारी है।

Photo Gallery