क्राइम

दिल्ली से सटे गुरुग्राम में ATM लुटेरों ने प्रशासन की नींद उड़ा रखी है. थाना प्रभारियों को सख्त निर्देश होने के बावजूद पुलिस एटीएम लूट की घटनाओं को रोकने में पूरी तरह असफल साबित हो रही है. आलम यह है कि गुरुग्राम में बीते दो महीने के भीतर एटीएम लूट को 14 वारदात हो चुके हैं.

वहीं पुलिस कार्रवाई की बात करें तो पुलिस के हाथ सिर्फ एफआईआर भर है. किसी वारदात से संबंधित न तो कोई सीसीटीवी फुटेज मिला है और न ही दूसरा सुराग. पुलिस से बेखौफ लुटेरे पूरी एटीएम मशीन ही उखाड़ ले जा रहे हैं.

गौरतलब है कि पुलिस कमिश्नर ने जिले के सभी थाना प्रभारियों को सख्त हिदायत दे रखी है कि जिस भी थाना क्षेत्र में एटीएम लूट की वारदात होगी, वहां के थाना प्रभारी के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी. बावजूद इसके एटीएम लूट की वारदातें रुकने का नाम नहीं ले रहीं.

कुछ ही दिन पहले बेगमपुर खटोला इलाके में हुई एटीएम लूट के मामले में बादशाहपुर थाना प्रभारी विभागीय कार्यवाही भुगत रहे हैं. इसके बावजूद पुलिसिया सख्ती कारगर साबित नहीं हो रही है.

गुरुग्राम में बीते कुछ ही महीने लाखों रुपये की एटीएम लूट की वारदात को लुटेरे अंजाम दे चुके हैं. बेगमपुर खटोला में हुई एटीएम लूट के मामले में पुलिस की मानें तो रात करीब 1.30 बजे इस वारदात को अंजाम दिया गया.

पुलिस के मुताबिक, लुटरों की संख्या भी हर वारदात की तरह चार से पांच थी, लेकिन पुलिस के पास मात्र इतनी ही जानकारी इस वारदात के बाद सामने आई है.

इन सबके बीच सबसे बड़ा सवाल उठ खड़ा हुआ है कि एटीएम लुटेरे आखिर क्यों नहीं पकड़े जा रहे. इतना ही एटीएम लूट की लगभग सभी वारदातों का तरीका एक जैसा ही है.

सभी वारदातों में ऐसे एटीएम का चुनाव किया जाता रहा है, जहांसुरक्षा गार्ड मौजूद नहीं थे. इसके साथ-साथ गुरुग्राम के बाहरी इलाकों के एटीएम को ही लुटेरे निशाना बनाते आ रहे हैं.

गुरुग्राम पुलिस की कई क्राइम टीमें मामले को सुलझाने में लगी हैं, लेकिन अब तक का नतीजा सिफर ही रहा है और शातिर लुटेरे एक और वारदात को अंजाम देने की फिराक में लगे हैं.

हिरासत में पांच लड़कियां

spa

प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मसाज पार्लर तथा स्पा के नाम पर सेक्स रैकेट का धंधा चरम पर है। हुसैनगंज के बाद अब पॉश इलाके गोमतीनगर में सेक्स रैकेट पकड़ा गया है। इस हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट से जुड़े पांच लड़कों व सात लड़कियों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। पुलिस का दावा है कि पकड़े गए सभी लोग बेहद आपत्तिजनक स्थिति में थे। इनको बस कपड़े पहनने का मौका दिया गया। जिस्मफरोशी का यह धंधा लखनऊ के पॉश एरिया गोमतीनगर में पत्रकार पुरम चौराहे के पास विवेक खंड में एक्सिस बैंक के ऊपर चल रहा था। पुलिस ने बताया कि इस स्पा से लड़कियों को दिल्ली, मुंबई व चेन्नई भेजा जाता था, साथ ही वहां से भी अक्सर लड़कियों को लखनऊ में सप्लाई के लिए भेजा जाता था। बाहर लड़कियों को मनमाने रेट पर भेजा जाता था। पुलिस को छापेमारी के दौरान मौके से भारी मात्रा में आपत्तिजनक सामग्री भी बरामद हुई है। पुलिस पकड़े गए लोगों के विरुद्ध कार्रवाई कर रही है। गोमतीनगर के पत्रकारपुरम चौराहे से चंद कदम की दूरी पर जिस्मफरोशी का धंधा चल रहा था। नौकरी का इंटरव्यू देने पहुंची एक युवती को इस थाई मसाज पार्लर की आड़ में वहां कुछ अनैतिक लगा। मामला सैक्स रेकेट का था। पुलिस ने दबिश देने से पहले भारी संख्या में महिला पुलिसकर्मी के साथ ही सीओ गोमतीनगर को भी बुला लिया। पुलिस ने जैसे से ही पार्लर में छापा मारा तो केबिन नुमा कमरों में कुछ लोग आपत्तिजनक हालत में थे। पुलिस ने इन लोगों को पकड़ लिया। पकड़े गए लोगों से पूछताछ हुई तो पता चला कि शॉपिंग कॉम्प्लेक्स की दुकान किराए पर लेकर थाई मसाज के नाम से ये धंधा चल रहा था। पुलिस को मौके से महिला संचालक, रैकेट में शामिल पांच महिलाएं और पांच पुरुषों को मौके से गिरफ्तार किया। सीओ दीपक कुमार ने बताया कि पुलिस को मसाज पार्लर से डायरी भी मिली है। जिसमें इनके रोज आने वाले ग्राहकों का नाम, पता और आने का वक्त भी लिखा था। सीओ गोमतीनगर दीपक कुमार सिंह के मुताबिक स्पा के संचालक बलिया निवासी राजू शर्मा ने एक महिला को नौकरी देने का झांसा देकर पार्लर में बुलाया था। महिला को पार्लर में जिस्मफरोशी का धंधा करने के लिए कहा गया। महिला टालमटोल कर कल आने की बात कहकर स्पा से बाहर निकल आई और पुलिस को फोन कर जानकारी दी। गोमतीनगर पुलिस ने स्पा में छापा मारकर सात महिलाओं और पांच युवकों को दबोच लिया। सीओ के मुताबिक स्पा में सेक्स रैकेट का संचालन हो रहा था। पार्लर से काफी आपत्तिजनक सामान बरामद हुआ है। पकड़े गए युवकों में संचालक राजू शर्मा, देवेंद्र सिंह, शाश्वत गोस्वामी, शमीर, और अमित वर्मा शामिल हैं।

nwn

हिमाचल प्रदेश के कोटखई में नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार के बाद उसकी हत्या के मामले के आरोपी एक नेपाली मजदूर की मंगलवार रात कोटखई थाना में एक अन्य आरोपी ने कथित तौर पर हत्या कर दी। हत्या के बाद कोटखई थाना के सभी कर्मचारियों का तबादला कर दिया गया है और हिरासत में मौत को लेकर न्यायिक जांच की सिफारिश की गयी है। बलात्कार की घटना पर जनाक्रोश की आशंका को लेकर कोटखई में अतिरिक्त पुलिस बलों को तैनात किया गया है। उल्लेखनीय है कि दसवीं कक्षा में पढऩे वाली छात्रा की हत्या चार जुलाई को बलात्कार के बाद कर दी गयी थी। घटना से पहले पीडि़ता ने दोनों आरोपियों में से एक आरोपी राजेन्द्र ;राजूद्ध से वाहन में लिफ्ट ली थी। पीडि़ता का शव दो दिनों के बाद पास के हलील जंगल से बरामद किया गया। मामले के सिलसिले में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने बताया कि राजेन्द्र उर्फ राजू की जेल में नेपाली व्यक्ति सूरज के साथ तीखी बहस हो गयी और हाथापाई हो गयी। इसके बाद राजू ने कथित तौर पर सूरज का सिर दीवार पर दे मारा और उसकी मौत हो गयी। दक्षिणी रेंज के आईजी जेड एच जैदी ने बताया कि सूरज ने बलात्कार की घटना का पूरा वृतांत सुनाया था और मुख्य आरोपी के रूप में पिकअप चालक राजू का नाम लिया था। कोटखईए शिमला और अन्य जगहों पर नाबालिग लड़की को न्याय दिलाने की मांग को लेकर विरोध जारी है और पुलिस पहले से ही जांच में सुस्ती को लेकर आलोचना का सामना कर रही है।

406242 rapebanglesbroken

उत्तर प्रदेश के बिजनौर में एक महिला ने चलती ट्रेन में जीआरपी के सिपाही पर बलात्कार करने का आरोप लगाया है। रेलवे पुलिस के अनुसार मंगलवार को महिला ने आरोप लगाया है कि वह बिजनौर जनपद के चांदपुर रेलवे स्टेशन से बिजनौर आने के लिए लखनऊ-चंडीगढ़ एक्सप्रेस में सवार थी तभी एक जीआरपी के सिपाही ने उसे खाली डिब्बे में ले जाकर डरा धमकाकर बलात्कार किया। बिजनौर स्टेशन पर भीड़ ने आरोपी सिपाही को पकड़ कर रेलवे चौकी को सौंप दिया। रेलवे चौकी प्रभारी रविमोहन शर्मा ने बताया कि महिला ने तहरीर दी है जिसे रेलवे कोतवाली नजीबाबाद स्टेशन भेजा जा रहा है। आरोपी सिपाही हिरासत में ले लिया गया है और आगे की जांच की जा रही है।

Photo Gallery