rashan 089

लखनऊ , 15-08-2017 (नेशनल वार्ता ब्यूरो)।  राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के तहत गरीबों को मिलने वाले राशन पर सर्वर ने 'ब्रेक' लगा दिया। इससे गुस्साए उपभोक्ताओं ने कई स्थानों पर हंगामा भी किया। आलमबाग के क्षेत्रीय पूर्ति कार्यालय में भी उपभोक्ताओं का दिनभर जमावड़ा लगा रहा। ई-पोस (इलेक्ट्रॉनिक प्वाइंट ऑफ सेल) मशीन में नेटवर्क नहीं आया। इससे कार्ड धारकों का अंगूठा नहीं लग पाने से राशन का वितरण नहीं हुआ। आलमबाग के सेक्टर-एच स्थित कोटे की दुकान पर आसपास के लोगों ने हंगामा किया। उधर चौक व हजरतगंज व डालीगंज के कई दुकानों पर उपभोक्ताओं का गुस्सा दुकानदारों को झेलना पड़ा। आलमबाग के क्षेत्रीय पूर्ति अधिकारी कार्यालय में भी दिनभर उपभोक्ताओं का जमावड़ा लगा रहा और उपभोक्ता हंगामा करते रहे। क्षेत्रीय पूर्ति अधिकारी अनिल कुमार ने उपभोक्ताओं को राशन देने का आश्वासन दिया, इसके बाद मामला शांत हुआ। उत्तर प्रदेश सस्ता गल्ला विक्रेता परिषद के अध्यक्ष अशोक मेहरोत्रा का आरोप है कि देखरेख के अभाव में मशीने काम नहीं कर रही हैं। ई-पोस मशीनें पिछले साल मार्च में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर लखनऊ में लाई गई थीं। एक साल के कांट्रेक्ट के समापन के साथ ही इसमें गड़बडिय़ां शुरू हो गई हैं। 802 दुकानों की मशीनों में नेटवर्क न आने से लोगों को राशन नहीं मिल सका। नेटवर्क की गड़बड़ी से राशन वितरण नहीं हो सका। कंपनी के प्रतिनिधियों ने देर रात तक नेटवर्क दुरुस्त करने का आश्वासन दिया है। वंचित उपभोक्ताओं को राशन दिया जाएगा। वहीं ऐसे कार्ड धारक जिनका आधार फीड नहीं है, वे मतदाता पहचान पत्र के साथ 20 से 25 अगस्त के बीच कोटे की दुकानों से राशन प्राप्त कर सकते हैं।

Photo Gallery