परंपरागत एवं उल्लास के साथ होलिका दहन किया गया। गुरुवार रात आठ बजे विधिवत पूजा-अर्चना के साथ होलिका दहन किया गया। लोगों ने परंपरागत ढंग से गन्ने और जौ की बाली के साथ होलिका की परिक्रमा कर होलिका दहन पर जौ की बाली भूनी।

 गुरुवार शाम को गजरौला के इंद्राचौक पर शिवमंदिर के सामने स्थित होलिका का पूजन विधिवत रूप से किया गया। होलिका पूजन के बाद होलिका दहन किया गया। जहां लोगों ने जौ की बालियां भून लोगों ने सगे-संबंधियों के घर जाकर एक-दूसरे से जौ बदल आपस में गले मिल होली की शुभकामनाएं दी। शहर में कई स्थानों पर होलिका दहन किया गया। होलिका दहन की तैयारियां कई दिनों से चल रही थीं। हालांकि कई गांवों में शुक्रवार सुबह को भी होलिका दहन किया जाएगा।

मंडी धनौरा और बछरायूं के नगर व ग्रामीण क्षेत्र में होली का पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। लोगों ने इस अवसर पर भगवान विष्णु व हनुमानजी की पूजा अर्चना की। नगर के होली मैदान पर महिलाओं ने पूजा अर्चना की और होलिका माँ से अपनी व परिवार की रक्षा की प्रार्थना की। होली की खरीदारी से बाजारों में रौनक रही। लोगों ने पिचकारी, गुलाल व रंगों की जमकर खरीदारी की। घरों में भी लोगों ने पूजा अर्चना की। बछरायूं में भी होली का पूजन किया गया।

हसनपुर के पुराने डाकखाने के पास बृहस्पतिवार की शाम महिलाओं ने होलिका पूजन किया। बाजारों में दुकानें सजी हुई थी। लोगों ने जमकर खरीदारी की। एक दूसरे को होली की मुबारकबाद गुलाल डालकर दी।

Photo Gallery