उत्तराखंड

rape ki kosish

रूड़की (नेशनल वार्ता ब्यूरो) ।  किशोरी से बलात्कार की कोशिश के मामले में बिरादरी की पंचायत ने एक आरोपी को पीडि़त पक्ष से भरी पंचायत में पांच जूते लगवाकर मामला रफा-दफा करने का फैसला सुना दिया। पुलिस इसी मामले में गांव के चार युवकों के खिलाफ पहले ही मुकदमा दर्ज कर चुकी है। पुलिस कानूनी कार्रवाई करने की बात कह रही है। खड़ंजा कुतुबपुर गांव की किशोरी 18 अगस्त को घर के पास के खाली प्लाट में गई थी। आरोप है कि रास्ते में गांव के सतीश पुत्र चंद्रभान, जितेंद्र पुत्र दयाराम, विजय पुत्र अतरसिंह और लीला पुत्र बिशन ने किशोरी को बंधक बना लिया और पास के एक खाली कमरे में ले जाकर उसके साथ बलात्कार की कोशिश की। इसी दौरान पीछे से किशोरी के परिजनों के आने पर आरोपी भाग गए थे। पुलिस ने उसी दिन चारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया था। दोनों पक्षों के एक ही बिरादरी के होने से गत दिवस बिरादरी के जिम्मेदार लोगों ने इसके निपटारे के लिए गांव में पंचायत बुलाई। दोनों का पक्ष सुनने बाद पंचों ने चार में से एक आरोपी के लिए पांच जूते लगवाने की सजा सुनाई। दोनों पक्षों के राजी होने के बाद आरोपी को पंचायत में ही बुलवाया गया, जहां किशोरी के परिजनों से उसे पांच जूते लगवाने के बाद दोनों का राजीनामा लिखवा लिया।

gfg

हरिद्वार (नेशनल वार्ता ब्यूरो) । स्वीडन की एक महिला ने ऊर्जा निगम टिहरी के ईई पर शादी का झांसा देकर दो साल तक यौन शोषण और मारपीट करने का आरोप लगाया है। पीडि़ता ने इसकी शिकायत एसएसपी टिहरी से की है। एसपीसी ने मामले की जांच की सीओ की दे दी है। स्वीडन की महिला का कहना है कि उसकी मां और बहन हरिद्वार में रहती है। वह भी स्वीडन से वहां आती रहती थी। उनके घर के पास ट्रांसफार्मर लगा हुआ है। ट्रांसफार्मर को शिफ्ट करने को लेकर महिला की मुलाकात 2015 में ऊर्जा निगम दफ्तर सिडकुल में तैनात ईई राकेश कुमार से हुई, जो वर्तमान में ऊर्जा निगम टिहरी में ईई के पद पर तैनात है। महिला का आरोप है कि हरिद्वार में ईई ने उससे दोस्ती की। शादी का झांसा देकर दो साल तक उसका यौन शोषण किया। उसे कई बार घुमाने भी ले गया। महिला जब भी ईई से शादी करने की बात करती तो वह टालते रहते थे। कुछ समय बाद महिला को ऊर्जा निगम कार्यालय से पता चला कि ईई की पत्नी और तीन बच्चे हरिद्वार में ही रहते हैं। जबकि यह बात ईई ने उसे नहीं बता रखी थी। आरोप है कि कुछ दिन पूर्व ईई ने ऊर्जा निगम दफ्तर नई टिहरी में भी उसके साथ मारपीट की है। पीडि़त महिला ने इसकी शिकायत एसएसपी टिहरी से की है। एसएसपी ने सीओ हीरा सिंह रौथाण को मामले के जांच के आदेश दे दिए हैं। उधर, ईई राकेश कुमार का कहना है कि मैं महिला को हरिद्वार से जानता हूं। वह सरकारी काम के लिए ऑफिस में आई थी। उनपर यौन शोषण और मारपीट का जो आरोप लगाया गया है वह निराधार है।

nwn cm

देहरादून (सू0वि0) । सिखों के दसवें गुरू श्री गुरू गोविंद सिंह जी के ३५०वें जन्मदिन को सम्पूर्ण भारत में वर्ष भर प्रकाशोत्सव के रूप में मनाये जाने की श्रृंखला में मंगलवार को गायत्री परिवार शांतिकुंज के देवसंस्कृति विश्वविद्यालय, प्तहरिद्वार के सभागार में हर्षाेल्लास के साथ मनाया गया। प्रकाशोत्सव में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत एवं केंद्र सरकार के संसदीय कार्य एवं कृषि राज्यमंत्री श्री एसएस अहलूवालिया ने राष्ट्र की एकजुटता और अखण्डता में विशेष योगदान देने वाले सिख समाज के संतों, आचार्यों तथा सेवादारों को सम्बोधित किया। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि श्री गुरू गोविंद सिंह जी के ३५०वें जन्मदिवस को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की प्रेरणा से सम्पूर्ण देश में प्रकाश पर्व के रूप में मनाया जा रहा है। उत्तराखंड में इसकी शुरूआत मुख्यमंत्री आवास से की गयी है। उन्होंने गुरू गोविंद सिंह जी के बहादुरी और देश प्रेम से ओत-प्रोत जीवन पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि वे बहुप्रतिभा के धनी, कवि, वेदों के ज्ञाता, साधक, देशभक्त थे, जिन्होंने देश में देशभक्ति का जन मानस के मन में रोपण किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सभी को सुसंस्कृत एवं एकजुट राष्ट्र के अपने इतिहास को जानने के लिए गुरू गोविंद सिंह के जीवन को जरूर पढ़ना चाहिए। किस प्रकार उनके आह्वान पर देश के अलग-अलग राज्यों एवं किस प्रकार अलग अलग समाज के लोगों ने अपने प्रियजनों का बलिदान दिया और पंच प्यारे कहलाये। ये प्रकाश पर्व एक माध्यम है गुरू गोविंद सिंह जी द्वारा देश हित के लिए किये गये योगदानों के महत्व को समझने का। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि आज फिर से देश को एकजुट कर विश्वशक्ति के रूप में स्थापित करने का समय है। कई अवांछनीय ताकतें देश को बांटने का प्रयास कर रही हैं, इसलिए हम सबको इन ताकतों के खिलाफ एकजुट होना है। संसदीय कार्य एवं कृषि राज्यमंत्री श्री एस.एस. अहलुवालिया ने भी उपस्थित जत्थेदारों को समागम में सम्बोधित किया।

modi or cm news

देहरादून , 22-08-2017 (सू0वि0)। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत नई दिल्ली में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की अध्यक्षता में आयोजित मुख्यमंत्री परिषद् की बैठक में शामिल हुए। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने मुख्यमंत्री से राज्य के विकास, सुशासन को मजबूत करने, किसानों एवं गरीबों के कल्याण के लिए किये जा रहे कार्यों के संबंध में विस्तार से विचार विमर्श किया। बैठक में मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने राज्य सरकार द्वारा किये जा रहे विभिन्न विकास कार्यों एवं राज्य में चलाई जा रही विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी। 2022 तक किसानों की आय को दोगुनी करने के लक्ष्य को लेकर भी प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के बीच चर्चा हुई। चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री श्री मोदी ने राज्य में केन्द्र सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की प्रगति के बारे में भी जानकारी हासिल की। बैठक में मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, उज्ज्वला योजना, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन नीति का लाभ और उडान योजना, सेतु-भारतम योजना, मिशन इन्द्रधनुष, ईज आॅफ डूईंग, एक भारत-श्रेष्ठ भारत कार्यक्रम, डिजिटल इंडिया, राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन सुरक्षा बीमा एवं प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के तहत किये जा रहे कार्यों की प्रगति की विस्तार से जानकारी दी।

Photo Gallery